केंद्र ने अयोध्‍या मामले को देखने के लिए बनाई अलग डेस्‍क, जानें कौन हागा इसका प्रमुख

केंद्र ने अयोध्‍या मामले को देखने के लिए बनाई अलग डेस्‍क, जानें कौन हागा इसका प्रमुख

केंद्र ने अयोध्‍या मामले को देखने के लिए बनाई अलग डेस्‍क, जानें कौन हागा इसका प्रमुख

एक  आधिकारी आदेश पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कहा की अयोध्या मामले और संबंधित अदालत के

फैसले को तीन अफसर देखेंगे| जिसकी अध्यक्षता अतिरिक्त कच्ची ज्ञानेश कुमार करेंगे| आपको बता

दें किकेंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट पर अयोध्या का फैसला आने के बाद  सभी मामलों को देखने के लिए

अतिरिक्त सचिव की अध्यक्षता में अलग डेस्ककी स्थापना कि है|

 

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में पूरी विवादित जमीन भगवान श्री राम के भव्य मंदिर को बनाने के लिए दिए थे|

 

                                                                                 यह भी पढ़ें

                                                                                                                                              
Guru Gobind Singh Jayanti 2020: राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी समेत कई लोगों ने देश को दी शुभकामनाएं

Guru Gobind Singh Jayanti 2020: राष्ट्रपति कोविंद और पीएम मोदी समेत कई लोगों ने देश को दी शुभकामनाएं

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई, एसए बोबडे, डीवाई चंद्रचूड़, अशोक भूषण और एस अब्दुल नजीरने मिलकर

अयोध्या में विवादित जमीन  भगवान श्री राम की भव्य मंदिर के निर्माण के लिए दी थी|

और सुनी  सुन्नी वक्फ बोर्ड को अयोध्या में ही 5 एकड़ जमीन देने का आदेश आवंटित किया था|

यह फैसला तत्कालीन न्यायाधीश के द्वारा दिया गया था|

 

पूरे मामले में सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के सुन्नी वक्फ बोर्ड  को 5 एकड़ जमीन देने का निर्णय किया था|

फिर बाद में फैसले के खिलाफ कुल 19 पुनर्विचार याचिकाएं दाखिल किए गए थे |

लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने सारे पुनर्विचार याचिका खारिज कर दिए थे|

 

  ज्ञानेश कुमार द्वारा देखें जाएंगे सारे मामलों को

 

आपको बता दें कि ऊपर से खबर आई है की प्रदेश सरकार ने गृह मंत्रालय को अयोध्या में 3 भूखंडों का

सुझाव देने का प्रस्ताव आया है| एक उत्तर प्रदेश के सुन्नी वक्फ बोर्ड को दिया जा सकता है| एक अधिकारी

केंद्र ने अयोध्‍या मामले को देखने के लिए बनाई अलग डेस्‍क, जानें कौन हागा इसका प्रमुख

ने बताया कि ऐसे मामलों को अब गृह मंत्रालय के नए डेस्क द्वारा संभाला जाएगा| अयोध्या मुद्दों और

सारे विवादों पर गृह मंत्रालय की नई विंग ज्ञानेश कुमार के नेतृत्व में संभाला जाएगा|

 

गृह मंत्रालय द्वारा किया गया एक और आदेश

 

 गृह मंत्रालय द्वारा किया गया एक और आदेश और वह यह आदेश है कि आंतरिक सुरक्षा सेकंड

डिवीजन को आंतरिक सुरक्षा एक से मिला दिया गया|  इसीलिए इसे आंतरिक सुरक्षा से जाना जाएगा|

गृह मंत्रालय ने संयुक्त सचिव (महिला सुरक्षा) पुण्य सलिला श्रीवास्तव को उनकी वर्तमान जिम्मेदारी

के साथ आंतरिक सुरक्षा -1 डिवीजन का भी प्रभार दिया है।

                                                                                                                            यह भी पढ़ें

हार्दिक पांड्या ने दुबई में सर्बियाई एक्ट्रेस नताशा स्टेनकोविच से की सगाई     हार्दिक पांड्या ने दुबई में सर्बियाई एक्ट्रेस नताशा स्टेनकोविच से की सगाई

 

  क्या थी स्थिति अयोध्या की पहले 

 

1990 और 2000 के दशक के शुरुआत में एक गृह मंत्रालय ने समर्पित अयोध्या प्रकोष्ठक्या था|

लेकिन अयोध्या में लिब्राहिम जांच का जमा करने के बाद इसे बंद कर दिया गया था|

 

Posted By Rahul Maddheshiya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *