Cyclone Amphan Update | Weather Forecast Today News; India Meteorological Department (IMD) Cyclone Alert For West Bengal Odisha Bangladesh Coast | तेज हो रहा चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’; अब बंगाल की खाड़ी के उत्तर पूर्वी दिशा में बढ़ा, अगले 6 घंटे में तटीय इलाकों में दिखेगा असर

Advertisement
Advertisement
Advertisement


  • मौसम विभाग ने कहा- पिछले 6 घंटों में अम्फान उत्तर-उत्तरपूर्व की ओर तेजी से बढ़ रहा
  • ओडिशा और पश्चिम बंगाल के कुछ तटीय इलाकों में 130 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं आएंगी, भारी बारिश की चेतावनी

दैनिक भास्कर

May 18, 2020, 12:09 PM IST

कोरोनाकाल के बीच बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान अम्फान अब तीव्र होने लगा है। खाड़ी के मध्य भाग में रात ढ़ाई बजे से इसका स्वरूप बड़ा होने लगा है। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 6 घंटे में तूफान खाड़ी के दक्षिणी इलाके से उत्तरपूर्व की तरफ मुड़ चुका है। यहीं पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश कोस्ट है। 20 मई की दोपहर तक यह तूफान पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के पास टकरा सकता है। इस दौरान इसकी रफ्तार 870 किलोमीटर प्रति घंटे होने का अनुमान है। च्रकवात के असर से ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में तेज हवाएं और भारी बारिश की आशंका है।
 
12 घंटे में और तेज हो जाएगी रफ्तार
भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय मोहपात्रा के मुताबिक, 12 घंटे में यह पूरी तरह से तेज तूफान में बदल जाएगा। अगले 6 घंटों में इसका असर तटीय इलाकों में दिखने लगेगा। तूफान का केंद्र ओडिशा के पारादीप से 980 किमी. दक्षिण,पश्चिम बंगाल के दीघा से 1,30 किमी. दक्षिण-पश्चिम और बांग्लादेश के खेपुपारा से 1,250 किमी. दक्षिण पश्चिम में है। इसके असर से बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी हिस्से में सोमवार सुबह 150 किमी प्रति घंटा, मध्य हिस्से में 190 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

ये इलाकें होंगे प्रभावित
तूफान से पश्चिम बंगाल का 24 उत्तर और दक्षिण परगना, कोलकाता, पूर्वी और पश्चिमी मिदनापुर, हावड़ और हुगली में तेज बारिश हो सकती है। ओडिशा में गजपति, गंजम, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपारा, बालासोर, भ्रदक, मयूरभंज, झुमपुरा, सहारपाड़ा और क्योंझर जिले में गरज-चमक के साथ एक खतरनाक आंधी, बारिश और बिजली चमकने का अलर्ट जारी किया गया है। इस बीच ओडिशा सरकार ने केंद्र से 18 मई से तीन दिन के लिए विशेष श्रमिक ट्रेनें न चलाने का अनुरोध किया है। 

दोनों राज्यों में एनडीआरएफ की 17 टीमें तैनात  
तूफान को देखते हुए एनडीआरएफ की 10 टीमें पश्चिम बंगाल में और 7 टीमें ओडिशा में तैनात की गई हैं। एनडीआरएफ के डायरेक्टर जनरल एसएन प्रधान ने बताया- ओडिशा में इन टीमों को 7 जिलों में जबकि बंगाल के 6 जिलों में भेजा गया है। 10 टीमों को स्टैंडबाय रखा गया है। हम स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।  21 सदस्यों वाली एक टीम को पारादीप में भी तैनात किया गया है। टीम के सदस्य कटर, बोट चेन और राहत और बचाव कार्य के लिए जरूरी सभी सामान के साथ पहुंचे हैं।

ओडिशा के आयुक्त बोले, तूफान तट का मालूम नहीं चला
ओडिशा के आयुक्त (राहत) पी के जेना ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का एक क्षेत्र बन रहा है जिससे तूफान भयावह हो सकता है। बोले, इस मसले पर मुख्य सचिव असित त्रिपाठी के साथ समीक्षा की है। भारत मौसम विभाग द्वारा प्राप्त प्राथमिक सूचना के अनुसार, संभावित कम दबाव का क्षेत्र उत्तर-उत्तर पूर्व दिशा में घूमते हुए अपने पथ पर लौटेगा और बंगाल की खाड़ी की ओर मुड़ेगा। कम दबाव वाले क्षेत्र की गति अभी पता नहीं चल पाया है और संभावित तूफान तट पर कहां टकराएगा इसकी जानकारी भी अभी मौसम विभाग ने नहीं दी है। उन्होंने कहा कि तूफान उत्तर ओडिशा, दक्षिणी बंगाल या बांग्लादेश से भी टकरा सकता है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »