AIR INDIA : RTI से मिली बड़ी खुलासा, VVIP लोगों की उड़ानों पर एयर इंडिया का 822 करोड़ है बकाया

AIR INDIA : RTI से मिली बड़ी खुलासा, VVIP लोगों की उड़ानों पर एयर इंडिया का 822 करोड़ है बकाया

 

गोरखपुर, टीम एरो इंडिया न्यूज़ / भयानक संकट के मुहाने पर खड़ी एयर इंडिया का

अतिविशिष्ट लोगों (VVIP) चार्टर फ्लाइटों पर 822 करोड़ रुपए का बकाया है|

RTI के मिली सूत्रों के अनुसार यह जानकारी उपलब्ध कराई गई है| सेवानिवृत्त

कॉमोडोर लोकेश बत्रा को बुधवार को उपलब्ध कराई गई जानकारी के

अनुसार, 30 नवंबर 2019 तक अति विशिष्ट लोगों की चार्टर फ्लाइटों पर 882 करोड़ रुपए का बकाया था|

 

आपको बता दें कि लोकेश बत्रा सूचना का अधिकार (आरटीआई) RTI कानून

के तहत एयर इंडिया की बकाया राशि के बारे में नवीनतम जानकारी मांगी थी|

इसके अलावा राहत और बचाव कायरे में विशेष विमान के प्रयोग के लिए 9.67 करोड़

रूपए तथा विदेशी मेहमानों की फ्लाइटों के मद में 12.65 करोड़ रुपए बकाया है|

                                                                                        यह भी पढ़ें

Nirbhaya Case : हाई कोर्ट के द्वारा दिए गए आदेश के बाद अब 3 दोषियों को   Nirbhaya Case : हाई कोर्ट के द्वारा दिए गए आदेश के बाद अब 3 दोषियों को विनय, पवन व अक्षय को 7 दिन में आजमाने होंगे ये विकल्प, जाने क्या है

विनय, पवन व अक्षय को 7 दिन में आजमाने होंगे ये विकल्प, जाने क्या है

आपको बता दें एयर इंडिया द्वारा वीवीआइपी चार्टर फ्लाइट राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति

और प्रधानमंत्री को विशेष विमान उपलब्ध कराई जाती है|

AIR INDIA : RTI से मिली बड़ी खुलासा, VVIP लोगों की उड़ानों पर एयर इंडिया का 822 करोड़ है बकाया

गौरतलब है कि नागर विमानन मंत्रालय ने 5 दिसंबर 2019 को एक जवाब में

बताया था कि एयर इंडिया 8,556.35 करोड़ रुपए घाटे में है|

और फिर 5 फरवरी 2020 को मंत्रालय ने एयर इंडिया  के घाटे के कारणों का

उल्लेख करते हुए बताया था कि इसके पीछे कुछ ब्याज दर पर कर्ज, प्रतिस्पर्धा

खासकर के (वे यात्री जो कम किराए वाले हो उनसे), भारतीय रुपए के कमजोर

होने के कारण विनियम दर प्रभावित होना और परिचालन लागत बड़ी वजह है|

यही नहीं आपको बता दें कि सरकारी अधिकारियों की यात्रा पर भी 526.14 करोड़ रुपए का बकाया है|

 

आपको बता दें कि सरकारी अधिकारियों की यात्रा पर भी एयर इंडिया की बड़ी

राशि भुगतान के लिए लंबित है| सरकारी अधिकारियों द्वारा लिए गए उधार टिकटों

के मद में भारतीय एयरलाइंस का 31 मार्च 2019 तक 526.14  करोड रुपए बकाया था|

इनमें से 236 करोड रुपए से ज्यादा के बिलों का भुगतान 3 साल से भी अधिक समय से लंबित है|

अपने खाते में वसूली की उम्मीद नहीं के मद में करीब 281.82 करोड़ रूपए दर्ज किए हैं| 

                                                                                                                        यह भी पढ़ें

Mahindra Electric (eXUV300) हुई पेश क्या है इसके लुक और फीचर्स यहां देखें Mahindra Electric (eXUV300) हुई पेश क्या है इसके लुक और फीचर्स यहां देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *