2012 Delhi Nirbhaya case : फांसी की सजा से नहीं मिली राहत, 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज

2012 Delhi Nirbhaya case : फांसी की सजा से नहीं मिली राहत, 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज

2012 Delhi Nirbhaya case : फांसी की सजा से नहीं मिली राहत, 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज

  • निर्भया के दो दोषी विनय कुमार शर्मा और मुकेश सिंह की क्यूरेटिव पिटिशन सुधारात्मक याचिका सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान खारिज कर दी|
  • आपको बता दें पटियाला हाउस कोर्ट ने 7 जनवरी को हीनिर्भया के चारों दोषियों को फांसी देने की तारीख 22 जनवरी को तय कर चुकी है|
  • 7 बजे चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी से लटका दिया जाएगा|
2012 Delhi Nirbhaya case : फांसी की सजा से नहीं मिली राहत, 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज
2012 Delhi Nirbhaya case : फांसी की सजा से नहीं मिली राहत, 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज

 

राष्ट्रीय, नई दिल्ली | 2012 Delhi Nirbhaya Case : निर्भया के दो दोषी विनय कुमार शर्मा और मुकेश

 सिंह की क्यूरेटिव पिटिशन सुधारात्मक याचिका सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान खारिज कर दी|

इसके साथ साथ सुप्रीम कोर्ट ने यह याचिका भी खारिज कर दी| जिसमें  निर्भया के दोनों दोषियों ने फांसी

की सजा पर रोक लगाने की मांग की थी| 22 जनवरी को दी जाने वाली फांसी का रास्ता बिल्कुल साफ हो गया है|

हालांकि, इन दोनों के पास राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर करने का ही एकमात्र रास्ता है|

एक विकल्प है जिसके सहारे यह बच सकते हैं|

 

 आपको बता दें पटियाला हाउस कोर्ट ने 7 जनवरी को हीनिर्भया के चारों दोषियों को फांसी देने की 

तारीख 22 जनवरी को तय कर चुकी है| पटियाला हाउस कोर्ट द्वारा डेथ वारंट के बाद फांसी से

घबराए दो दोषियों मुकेश जी और विनय शर्मा ने ही सुप्रीम कोर्ट में  क्यूरेटिव याचिका पेश की थी|

                                                                                            यह भी पढ़ें

पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ की मौत की सजा माफ               पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ

2012 Delhi Nirbhaya case : फांसी की सजा से नहीं मिली राहत, 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज

 

 निर्भया की मां ने  अहम बयान में कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट  सही फैसला करेगी|

उन्हें उम्मीद थी कि दोषियों की क्यूरेटिव पिटिशन सुप्रीम कोर्ट से खारिज हो जाएगी| और उन्होंने

यह भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि आगामी 22 जनवरी की सुबह 7:00 बजे चारों को फांसी से लटका दिया जाएगा|

 

पटियाला कॉल हाउस से डेट वारंट जारी होने के बाद चारों दोषियों में से 2 दोषियों विनय शर्मा और

मुकेश सिंहने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन याचिका दाखिल की थी और राहत की गुहार लगाई थी|

इस पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के 5 जजों की बेंच में सुनवाई हुई, जिसमें जस्टिस एनवी 

रमन्ना, अरुण मिश्रा, जस्टिस आरएफ नरीमन,जस्टिस  आर भानमती और जस्टिस अरुण भूषण

शामिल थे|आपको बता दें कि एक दोषी विनय शर्मा  ने क्यूरेटिव पेटीशन में अपनी युवावस्था का

जिक्र करने के साथ जेल में अपने आचरण, परिवार में बीमार माता-पिता और  आश्रितों  का हवाला

देते हुए कहा कि उनके साथ न्याय नहीं हुआ इस पर विचार किया जाए| 

 

गौरतलब है कि निर्भया के माता-पिता की याचिका पर फैसला लेते हुए दिल्ली पटियाला

हाउस कोर्टकी तरफ से डेथ वारंट 7 जनवरी को अहम फैसला लेते हुए 7 बजे चारों

दोषियों को तिहाड़ जेल में फांसी से लटका दिया जाएगा|

आपको बता दें  चारों दोषियों में से 2 दोषी विनय कुमार शर्मा और मुकेश सिंह  सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटिशन

 याचिका दाखिल की थी| जिसे मंगलवार को पांच जजों के बीच खारिज कर दिया गया|

                                                                                                    यह भी पढ़ें

अब नहीं करनी होगी किसी नेता की पहरेदारी, NSG को मिली छूट|   अब नहीं करनी होगी किसी नेता की पहरेदारी, NSG को मिली छूट|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *